अंतराष्ट्रीय योग दिवस international yoga day 21 june

अंतराष्ट्रीय योग दिवस international yoga day 21 june  आंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून – लेकिन क्या है इसके पीछे की कहानी ,international yog divas 21 june ,भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी के प्रयासों के चलते पहली बार पुरे विश्व ने एक साथ 21 जून 2015 योग किया था उसके बाद हर वर्ष 21 जून को योग दिवस के रूप में पुरे विश्व में मनाया जाने लगा।  योग एक ऐसा धागा बन चूका है जो विश्व के लगभग सभी देशों को एक माला में पिरोने का कार्य करता है .

अंतराष्ट्रीय योग दिवस 21 june

कैसे हुई शुरुआत :-

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 सिंतबर 2014 को United Nations में प्रस्ताव पेश किया 11 दिसंबर 2014 को यूएन ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया हैरानी की बात ये है की  तीन महीने में प्रस्ताव पास भी हो गया और 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए आधिकारिक तोर पर घोषणा कर दी गयी ,कहते है इस प्रस्ताव को 193 में से 175 देशों ने बिना किसी वोटिंग के  स्वीकार कर लिया यूएन का भी मानना है योग मानव कल्याण और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है ,

लेकिन क्या है इसके पीछे की कहानी :-

21 june  को ही internatonal  yoga day  बनाए जाने के पीछे वजह है कि इस दिन ग्रीष्म संक्रांति होती है। इस दिन सूर्य धरती की दृष्टि से उत्तर से दक्षिण की ओर चलना शुरू करता है। यानी सूर्य जो अब तक उत्तरी गोलार्ध के सामने था, अब दक्षिणी गोलार्ध की तरफ बढऩा शुरु हो जाता है। योग के नजरिए से यह समय संक्रमण काल होता है, यानी रूपांतरण के लिए बेहतर समय होता है। ग्रीष्म संक्रांति का दिन पूरे वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है।

पुरे विश्व में शांति :-

21 जून 2015 को दिल्ली में 36000 लोगो ने 35 मिनट तक योग किया  जिसमे योग के अलग अलग 21 आसनो को किया गया .ये विश्व का पहला योग दिवस था लेकिन भारत में योग हजारों लाखो वर्षो से किया जा रहा है ,शिव पुराण , देवी भगवत पुराण ,उपनिषध ,सभी धार्मिक ग्रंथों में योग की महिमा वतायी गयी है , योग से मन की शांति मिलती है ,योग की गहराई में उत्तर कर परमसुख परम् आनंद प्राप्त किया जा सकता है , तेज और आयु की वृद्धि होती है ,योग से ज्ञान की प्राप्ति होती है ,अगर विश्व के 500 करोड़ लोग योग को अपना धर्म मान लें तो पुरे विश्व में शांति आ सकती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *