शेयर मार्किट से अनलिमिटेड कमाई करने का फार्मूला share market se paise kaise kamaye in hindi

शेयर  मार्किट से अनलिमिटेड  कमाई करने का फार्मूला , share market  ,share market se paise kaise kamaye in hindi  ,  शेयर  मार्किट जोखिमों से भरा है निवेश करने से पहले सो बार सोचें .और रिसर्च करें ,अगर आपने  मन बना लिया है ,शेयर मार्किट में एक बार किस्मत आज़माना है तो यहाँ आपको कुछ सीक्रेट फार्मूला बताये जायेंगे

शेयर मार्किट में उतरने से पहले आपके पास जानकारी होने आवश्यक है ,आप जिस शेयर में इन्वेस्ट करने जा रहे है क्या वो कंपनी  भरोसे लायक है या नहीं, स्टॉक मार्किट से एअर्निंग करने के लिए आपको थोड़ा खुद का रिसर्च जरूर करना चाहिए आज मई आपको शेयर मार्किट से रिसर्च कैसे करते है इसकी जानकारी संक्षेप में बता रहा हु जिसको स्टडी कर के आप शेयर मार्किट की बारीकियां आसानी से समझ जाओगे .
कैसे करे रिसर्च स्टॉक मार्किट :-
 EPS की जाँच करें :-
आप जिस कंपनी के शेयर  खरीदने जा रहे है उसका पहले ईपीएस चक करे ,ईपीएस का फुल फॉर्म है earning per share  , कंपनी को प्रति शेयर के पीछे कितनी आय हो रही है

1. उद्धरण के लिए समझे तो , एक कंपनी है जिसकी टोटल कैपिटल 1 करोड़ रूपये है और उसके एक शेयर की कीमत 1000 रूपये है ,तब उसके पास 10000 शेयर होंगे ,यदि कंपनी एक  वर्ष में 25 लाख का profit  करती है तो कंपनी की ईपीएस = 250 rupees होगी .
ईपीएस= नेट प्रॉफिट /टोटल शेयर .
EPS=NETPROFIT/TOTAL SHARE 

इसका मतलब हरगिज न निकाले  की आपको भी 250 रूपये का फायदा एक शेयर पर होने वाला है कंपनी इस प्रॉफिट में से कुछ डिविडेंड के तोर पर शेयर होल्डर्स को देती है और बाकि की रकम नए प्लान्स में इन्वेस्ट करने के लिए सिक्योर रख लेती है .
फिर भी आप किसी कंपनी का ईपीएस देख कर ये अंदाज़ा लगा सकते है की वो कोम्पनी कितना डिविडेंड दे सकती है . साधारण शब्दों में समझे तो ज्यादा ईपीएस मतलब कोम्पनी भरोसे लायक है, आप इन्वेस्ट कर सकते है

PE ratio :-
ईपीएस की किसी कोम्पनी की परफॉरमेंस को दर्शाती .उसके बाद बरी आती है PE ratio  की ईपीएस जांचने के बाद आप बहुत आसानी से PE ratio  निकाल  सकते है PE RATIO  की फुल फॉर्म है PRICE EARNING RATIO

 .किसी कंपनी का पी इ  रेश्यो ये दर्शाता है की निवेशक उस कमपनी में ज्यादा दिलचस्पी ले रहे है ,अगर कंपनी का प्राइस एअर्निंग  रेश्यो हाई है तो इन्वेस्ट कर सकते है लेकिन ये फार्मूला नहीं  कई  बार कृत्रिम रूप से भीपी इ रेश्यो उच्च स्तर पर पहुँच जाता है जब निवेशक किसी खबर के कारन उसके शेयर खरीदना शुरू कर देते है .

लेकिन किसी भी स्टॉक में निवेश करने से पहले जाँच लेना चाहिए की उसका पी इ रेश्यो उच्च है या नहीं अगर उच्च स्तर पर है तो स्टॉक में  इन्वेस्ट  कर सकते है

PE = SHARE MARKET PRICE / EPS 

pe  ratio  अगर ऊपर से नीचे जा रहा है तो आप बेच का निकल जाएँ .इसके उलट अगर किसी स्टॉक का pe ratio ऊपर की और जा रहा है तो आप उसमे लम्बे समय के लिए इन्वेस्ट करें लेकिन अपने रिस्क पे 

BOOK VALUE :-
ईपीएस और पी इ रेश्यो के बाद बारी  आती है बुक वैल्यू की जिस कंपनी की बुक वैल्यू ज्यादा होगी उसमे निवेश करने से घाटे जोखिम भी कम हो जाता है ,
बुक वैल्यू शेयर के मार्किट वैल्यू से कम होती है .अगर किसी स्टॉक की कीमत आज के समय में 350 रूपये है तो उसकी बुक वैल्यू 230 के आस  पास कम या ज्यादा होगी , 
किसी भी कोम्पनी का बुक वैल्यू फेस वैल्यू से अधिक होना चाहिए . इससे कम्पनी के रिज़र्व वर्थ की जानकारी मिलती है .फेस वैल्यू से बुक वैल्यू जितना अधिक होगी समझ लो कंपनी उतना अच्छा  परफॉरमेंस दे रही है .


FACE VALUE :-

किसी भी शेयर को खरीदने से पहले उसकी फेस वैल्यू पर ध्यान देना जरुरी होता है . फेस वैल्यू का अर्थ है किसी शेयर या स्टॉक का वास्तविक मुल्ये .स्टॉक का मार्किट प्राइस ऑफ़ फेस वैल्यू दोनों अलग होती है ,ज्यादातर स्टॉक का फेस वैल्यू १० रूपये तक होता है ,डिमांड के हिसाब से किसी कंपनी के   स्टॉक का मार्किट प्राइस बढ़ने या घटने लगता है ,
यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है किसी भी स्टॉक को खरीदने से पहले अच्छी तरह जाँच लें की उस स्टॉक का  बुक वैल्यू फेस वैल्यू से ज्यादा होना चाहिए .अगर किसी क्सीक्स कंपनी का face value  10 रूपी है और बुक वैल्यू 5 रूपी है तो ऐसी कंपनी से दूर रहना चाहिए इनसे कभी की लाभ की उम्मीद न करें

DIVIDEND :-
लास्ट में आपको ये देखना है कम्पनी अपने शेयर होल्डर्स को डिविडेंड देती भी या नहीं . जो कंपनी शेयर होल्डर्स को प्रति वर्ष डिविडेंड देती है ऐसी कंपनी में इन्वेस्ट करना फायदे का सौदा हो सकता है . 


Indiabulls Housing Finance Ltd.

Vedanta Ltd.
Ingersoll Rand (India) Ltd.
Sonata Software Ltd.
Tide Water Oil Ltd.

ये ऐसी कम्पनिया है जो शेयर होल्डर्स को अच्छा डिविडेंड  साल दर साल देती आयी है आप इनको एक बार स्टडी  जरूर करें .दोस्तों आप जब भी किसी स्टॉक में इन्वेस्ट करने की सोचें तो सबसे पहले ऊपर बताये गए कुछ पॉइंट्स को रिसर्च जरूर करें .

इनके इलावा और भी बहुत से फैक्टर है जिनपर ध्यान देना जरुरी होता है कभी भी जल्दवाजी में और किसी के कहने पर कोई शेयर में निवेश न करें .स्टॉक ऐसी कोम्पनी का चुने निवेश करने के लिए जो प्रति वर्ष अच्छा परफॉरमेंस दे रही हो . और जिनका प्रोफ्ट अच्छा हो .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *