Dosti Shayari in Hindi with images downloaded

जो कोई समझ न सके वो बात है हम, जो ढल के नई सुबह लाये वो रात हैं हम, छोड़ देते हैं लोग रिस्ते बनाकर यूँ ही, जो कभी न छूटे ऐसा साथ हैं हम.

dosti par shayari hindi me chahiye

मिलना बिछड़ना सब किस्मत का खेल है, कभी नफरत तो कभी दिलों का मेल है, बिक जाता है हर रिस्ता इस जमाने में, सिर्फ दोस्ती ही यहाँ नोट फॉर सेल है.

दिए तो आंधी में भी जला करते हैं, गुलाब तो काँटों में ही खिला करते हैं, खुशनसीब बहुत होती है वो शाम, जिसमे दोस्त आप जैसे मिला करते हैं.

मिलना बिछड़ना सब किस्मत का खेल है, कभी नफरत तो कभी दिलों का मेल है, बिक जाता है हर रिस्ता इस जमाने में, सिर्फ दोस्ती ही यहाँ नोट फॉर सेल है.

जो कोई समझ न सके वो बात है हम, जो ढल के नई सुबह लाये वो रात हैं हम, छोड़ देते हैं लोग रिस्ते बनाकर यूँ ही, जो कभी न छूटे ऐसा साथ हैं हम.

एक जैसे दोस्त सारे नही होते, कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते, आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ, कौन कहता है जमीन पर तारे नहीं होते.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *