neuro endocrine tumor kya hota ha न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर

neuro endocrine tumor kya hota hai न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर क्या होता है ,ये जानने से पहले आपको ये जानना चाहिए के न्यूरो एंडोक्राइन क्या होता है , इस आर्टिकल में आपको न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर से सम्बंधित विस्तृत जानकारी मिल सकती है  एंडोक्राइन सिस्टम उन कोशिकाओं से बना होता है जो हमारे शरीर में हॉर्मोन त्यार करते है .शरीर में कई प्रकार के हॉर्मोन होते है , हमारे शरीर को हॉर्मोन कंट्रोल करते है ,हमारे एक एक अंग और प्रत्येक कोशिका  हॉर्मोन से प्रभावित होते है ,हॉर्मोन रासायनिक पदार्थ होते हैं जो  अलग अलग हॉर्मोन ग्रन्थिओ में उत्पन होते हैं.

neuro endocrine tumor kya hai

जब ये कोशिकाएं ( हॉर्मोन उत्पन करने वाली कोशिकाएं  ) असमान्य रूप से अपने आप बढ़ने लगती है तो ट्यूमर बन जाते है जिनको गांठे कहते है .ये ट्यूमर मामूली भी हो सकते है और कैंसर युक्त भी हो सकते है .मामूली गांठे कई लोगो के शरीर में हो सकती है यदि ये गांठे कैंसर बन जाये तो घातक परिणाम हो सकते हैं .

मामूली ट्यूमर अपनी जगह बड़े हो सकते है लेकिन शरीर के बाकि हिस्से को नुक्सान नहीं पहुंचाते लेकिन कैंसर युक्त ट्यूमर बढ़ने के साथ -साथ शरीर के बाकी अंगो को भी डैमेज करना शुरू कर देते हैं.

न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर एक ऐसा कैंसर का रोग है जो हॉर्मोन पैदा करने वाली ग्रन्थिओ की कोशिकाओं में होता है
neuro endocrine tumor  शरीर के उस हिस्से में होता है जहा से हॉर्मोन का स्त्राव होता है अर्थात जो ग्रंथियां हॉर्मोन उत्पन करती है ,जब उसकी कोशकाओं में tumor त्यार हो जाये तो उसको न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर कहते है .अब समझने बाली बात है के जिस हॉर्मोन ग्रंथि में टूमओर हुआ हो तो उस ट्यूमर में भी हॉर्मोन उत्पन करने की समर्थता होती है उस स्थिति में शरीर में ख़ास हॉर्मोन की मात्रा बहुत अधिक बढ़ सकती है.ये बहुत ही खतरनाक स्थिति होती है.

न्यूरो एंडोक्राइन कोशिकाएं हमारे पुरे शरीर में पायी जाती है .इस लिए ये शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है फेफड़े, पेट ,थाइरोइड ,पैंक्रियास ,छोटी आंत या गर्भाशय ,अंडकोष ,पिचुएटरी ग्लैंड , या पीनियल ग्लैंड में भी हो सकता है ,अगर शुरुआत में इसका सही उपचार कर लिया जाये तो इस से छुटकारा मिल जाता है , देरी होने पर अनहोनी हो सकती है.
conclusion:- 
जैसे ही पता चले के वो इस रोग से पीड़ित है ,किसी अच्छे हॉस्पिटल में अपना उपचार करवा ले ,इसका इलाज महंगा हो सकता है ,अगर आप आर्थिक रूप से कमजोर है तो अपनी दिनचर्या में ॐ विलोम-कपाल भाती शामिल करे रोज सुबह शाम 2-2 घंटे ॐ- विलोम और कपाल भाती करें करें .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *